SEO Kya Hai Aur Kyo Jruri Hai (Step by Step) [ पूरी जानकारी ]

क्या बढ़िया content लिखने के बाद भी आपका ब्लॉग आगे नहीं बड रहा ? क्या आप ट्रैफिक ना आने से परेशान हो चुके है ? अगर हाँ, तो इसका मतलब हैं, आपको नहीं पता कि SEO क्या हैं और कैसे काम करता हैं |

एक बात मैं आपको बतादू कि, बिना SEO किये आप कभी भी अपने ब्लॉग को रैंक नहीं कर पायेंगे |

क्योकि,

हर सर्च इंजन के भी कुछ algorithm होते और जो भी ब्लॉग उस algorithm को follow करता है, वही उसके 1st पेज पर रैंक करता हैं | इस लिए आप भी इन algorithm को जाने और उसके अनुसार ही अपने ब्लॉग का SEO करे | अगर आप seo के बारे में बिलकुल नहीं जानते तो

घबराए नहीं,

आज की इस पोस्ट को पड़ने के बाद आपके सभी डाउट बिलकुल clear हो जायेंगे……

तो चलिए जानते है SEO क्या होता हैं और क्यों जरूरी हैं…….

SEO ki fullform हैं – Search Engine Optimization | जैसे नाम से ही पता चल रहा है कि इसका सीधा संबंध search engine से है | अब जब भी किसी यूजर को अपनी problem का solution चाहिए तो वो सर्च इंजन जैसे Google, Yahoo, Bing etc पर अपना सवाल सर्च करता हैं | जिसके बाद Search engine पर कुछ result देखाई देते हैं, जो बिलकुल उस यूजर के सवाल के अनुकूल (मिलते-जुलते ) होते हैं |

क्या आपको पता हैं search engine बिलकुल सही result शो कैसे करता हैं ?

बहुत ही कम लोग होते हैं जिनको ये पता होता हैं कि search engine कैसे काम करता हैं और जिन्हें ये पता होता हैं, वो अपने ब्लॉग/वेबसाइट को बहुत जल्दी रैंक करा लेते हैं |

इस लिए Search Engine Optimization को समझने से पहले हमे Search Engine के बारे में जान लेना चाहिए…..

Search Engine क्या है और कैसे काम करता हैं 

Search Engine एक ऐसा प्रोग्राम होता हैं, जिसमे बहुत सारे algorithm होते है | सर्च इंजन के पास बहुत बड़ा database होता हैं जिसमे इंटरनेट पे मजूद सभी वेबसाइट और ब्लॉग का address होता है |

Work Process : जब भी किसी यूजर को किसी वेबसाइट पर जाना होता है या अपने सवालों का solution चाहिए होता हैं, तो search engine पर सर्च करते है | इसके बाद सर्च इंजन के जो algorithms होते हैं, वो काम करते हैं| ये algorithm यूजर की query को समझते है और फिर analysis करते हैं | इसके बाद जो result यूजर के सवालो के साथ मैच करते हैं वो result SERP पर शो हो जाते हैं ….

अब आप सोच रहे होंगे कि SERP क्या हैं ?

SERP का fullform है – Search Engine Result Page | जब हम किसी सर्च इंजन पर सर्च करते हैं तो हमारे सामने एक पेज open होकर आता हैं जिस पर ब्लॉग और वेबसाइट की लिस्ट होती हैं, उस पेज को SERP (Search Engine Result Page) कहते हैं |

इस पेज पर 10 result शो किये जाते हैं और ये result सर्च इंजन के algorithm की मदद से शो किये जाते हैं |

Search engine 3 पार्ट में काम करता हैं :-

1). Crawling :  Search Engine के कुछ programming code होते हैं जिसे Crawler कहा जाता हैं | ये crawler इंटरनेट पर पब्लिश हो रहे, सभी ब्लॉग/वेबसाइट को समह-समह पर स्कैन करते रहते हैं और जानकारी को सर्च इंजन तक पहुंचाते रहते हैं |

2). Indexing :  Crawlers के दूरारा इकठी की जानकारी को सर्च इंजन अपने database में index करते हैं | ये काम भी algorithm के अनुसार ही होता हैं | जिस वेबसाइट/ब्लॉग की athurity ज्यादा होती है, उसे उतना जल्दी ही index किया जाता हैं |

3). Ranking :  ये सर्च इंजन का लास्ट step होता हैं | इस step में index की गयी जानकारी की रैंकिंग की जाती हैं और ये काम भी सर्च इंजन के algorithm (Programming Code) के दुआरा किया जाता हैं | हर सर्च इंजन के अपने-अपने algorithm होते हैं और जो content उस algorithm के अनुसार होता हैं, वो 1st पर रैंक करता हैं और दुसरे एक के बाद एक |

आखिर SEO क्यों जरूरी हैं ?

अब मैं आपको बताने जा रहा हूँ कि search engine optimization इतना क्यों जरूरी हैं और क्यों हम सब इतना इसके पीछे भाग रहे हैं….

SEO की importance समझने से पहले हम सर्च इंजन पर show होने वाले result के बारे में जानते हैं…

सर्च इंजन के result पेज पर दो प्रकार की listing show होती हैं, जिसके बारे में मैंने निचे बताया हैं :-

  1. Inorganic  Listing 
  2. Organic Listing 

SERP listing

1) Inorganic Listing : ये paid लिस्टिंग होती हैं, मतलब अगर आपको google पर अपना ब्लॉग शो कराना हैं तो इसके लिए आपको पैसे देने पड़ते हैं | जिसे PPC ( Pay Per Click ) कहते हैं | इस listing में जब भी कोई visitor आपके ब्लॉग लिंक पर क्लिक करते हैं तो आपको per click के हिसाब से पैसे देने पड़ते हैं |

अगर आपके पास कोई ऐसा product, service या course हैं जिसे sell करने पर आपको ज्यादा income होगी, तब आप PPC  Advertisement से अपनी वेबसाइट/ब्लॉग पर ट्रैफिक ला सकते हैं 

2) Organic Listing : इस लिस्टिंग में आपको कोई भी पैसा नहीं देना पड़ता | इस लिस्टिंग में बहुत सारा ट्रैफिक होता हैं जिसे आप फ्री में अपने ब्लॉग पर ला सकते हैं | लेकिन इस listing मे अपने ब्लॉग/वैबसाइट को शामिल करने के लिए आपको search engine की guidelines को follow करना होता हैं ओर अपने ब्लॉग/वैबसाइट को SEO friendly बनाना होता हैं ….

ऐसे मे अगर आपको सर्च इंजन से बिलकुल फ्री मे ट्रेफिक चाहिए तो आपको SEO की बहुत जरूरत होती हैं | आपको पता होना चाहिए कि अपने ब्लॉग को SEO friendly कैसे बनाए ?

SEO क्या होता हैं ?

जब कोई भी सर्च इंजन, ब्लॉग की रैंकिंग करता हैं, तो वो उन सभी ब्लॉग और वेबसाइट को अपने algorithm के साथ मैच करता हैं | जो ब्लॉग/वेबसाइट seo friendly होती हैं, वो 1st पेज पर show होती हैं |

SEO – अपने ब्लॉग को SEO Friendly बनाने के लिए हम जो भी improvements अपने ब्लॉग में करते हैं, उन सभी improvements को Search Engine Optimization कहा जाता हैं | इस में बहुत सारे steps शामिल होते हैं | Search engine optimization को आगे 3 केटेगरी में बांटा गया हैं …

Types of Search Engine Optimization

types of search engine optimization

1). On-page seo :  किसी भी पोस्ट को पब्लिश करने से पहले, हम उसमे जो improvements करते हैं, उसे on page seo कहा जाता हैं | ये सबसे important भी हैं | जिस भी ब्लॉगर ने अपने ब्लॉग पर on page seo नही किया, उसका ब्लॉग कभी भी सर्च इंजन पर रैंक नहीं करता |

On page optimization सर्च इंजन के algorithm को समझ कर किया जाता हैं, वैसे इन algorithm को secret रखा जाता हैं, लेकिन जैसे-जैसे हम practice करते जाते हैं, हमें इनके बारे में पता चलता जाता हैं |

इसी लिए मैं भी आपको यही recommend करूंगा कि आप भी अपने ब्लॉग में लगातार परिवर्तन करते रहे और जितना हो सके algorithm को समझने की कोशिश करे ……

Examples of on page optimization :-

  • Post Title
  • Meta description
  • Focus Keyword
  • Website speed, Design & Structure
  • Internal & External Links
  • Use of Heading Tags
  • SEO friendly URL = short is better
  • Image alt tag
  • Keyword Research & density
  • Post length …..etc |

2). Off-Page SEOब्लॉग पब्लिश करने के बाद, उसकी रैंकिंग को improve करने के लिए जो भी काम किये जाते हैं, उन्हें off-page seo कहते हैं | मैं एक बात आपको बता दूँ कि off page optimization  भी उतना ही जरूरी हैं जितना की on page optimization हैं |

ज्यादातर लोक on-page optimization पर तो पूरा ध्यान देते हैं लेकिन off-page optimization पर ध्यान नहीं देते, जिसके चलते उनका पोस्ट रैंक नहीं कर पाता और अगर कर भी जाये तो ज्यादा देर रैंक maintain नहीं रहता | इस लिए off-page seo करना भी जरूरी हैं…..

निचे मैं वो point  बता रहा हूँ जो off-page seo में आते हैं :-

  • High Quality Backlinks
  • Social Sharing
  • Guest Posting
  • Social Media Marketing
  • Directory Submission
  • Participate in Q & A Sites
  • Search Engine Submission
  • Comment on other Blog
  • …..etc

3) Technical SEO : किसी भी ब्लॉग/वेबसाइट में आ रही technical error को solve करना ही Technical SEO  कहलाता हैं | निचे मैं कुछ example दे रहा हूँ जिस से आपको टेक्निकल seo को समझने में आसानी होगी।

Technical seo examples :-

  • Broken links
  • Hidden links
  • Improve Bad codes
  • Design responsive
  • Optimize Page Speed
  • Compress image & Video
  • Reduce Redirects
  • Optimize Robots.txt

Types of  SEO Techniques   

अब हम बात करते कि SEO को किन-किन तकनीकों से किया जाता हैं और किस तकनीक के क्या फायदे और नुकसान हैं | पोस्ट ज्यादा बड़ी ना हो इस लिए मैं आपको आसान शब्दों में इन तकनीकों के बारे में बता देता हूँ…

SEO की 3 तकनीके होती हैं :-

  1. White Hat 
  2. Black Hat 
  3. Grey Hat 

seo techniques infographic

Read also :


तो Brothers, ये थी हमारी पोस्ट SEO के बारे मे, जिसमे आपको जानने को मिला कि SEO Kya Haiऔर Kaise Kaam Karta Hai और अगर आपको SEO के related कोई भी help चाहिए तो नीचे कमेंट करे |

लेकिन अगर आप जानना चाहते हैं कि शुरुआत मे अपने ब्लॉग पर ट्रेफिक कैसे लाया जाए ओर ब्लॉग कि ranking कैसे बड़ाई जाए, तो आप हमारे Newsletter को Subscribe कर सकते हैं | यहा आपको कुछ PRO टिप्स जानने को मिलेंगे….
Subscribe to our newsletter
You can unsubscribe at any time
SEO Kya Hai Aur Kyo Jruri Hai (Step by Step) [ पूरी जानकारी ]
4 Stars 80% 8 votes

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

12 Comments
  1. Ramanand mehta says

    really super article…. and your writing skill osm

    1. Kulwant Singh says

      Thanks Ramanand Bro
      Keep visting

  2. Sudip Karmakar says

    boss aap ka articel bahut aacha ha i hope main ye step fallow kar ka main apna website renk kar paue or best part ye ha je aap ka articel hindi mai ha jo ke ham logo ko aashani sa samaj ma aata ha thanks bhai

  3. Kulwant Singh says

    Jrur bhai agar aap sahi tarike se kaam karoge to aap dusro se jaldi rank karoge

  4. Tahir malik says

    Excellent……….Bahut hi Achhi Jaankari

    1. Kulwant Singh says

      शुक्रिया भाई

  5. Navin says

    Apke smjhane ka tarika kafi acha h bro

    1. Kulwant Singh says

      Thank You Navin,
      मुझे बहुत खुशी हुई कि आपको मेरा ये पोस्ट बड़िया लगा 🙂

  6. Amit says

    Gud work

    1. Kulwant Singh says

      Thanks Amit Bro

  7. Karan Singh says

    Very Helpful Information for me sir thanks sir apne itna acha article Hindi me likha bhut hi acha laga sir thanks again sir for this article

    1. Kulwant Singh says

      Always Welcome Bro

Leave A Reply

Your email address will not be published.