Domain Name क्या है और कैसे काम करता है ? पूरी जानकारी

What is domain name in hindi : अगर आप एक ब्लॉगर है या फिर ब्लॉगर बनना चाहते है तो सबसे पहले आपके मन में ये सवाल आता होगा कि domain name क्या है और ये कैसे काम करता है. तो अगर आप  डोमेन नेम के बारे में पूरी जानकारी चाहते है तो आप सही website पर है | इस website पर आपको WordPress से जुडी सारी जानकारी हिंदी में दी जायेगी .  तो चलिए जानते है डोमेन नेम के बारे में ……..

 

What is domain name in hindi ( Domain Name क्या है  )

डोमेन नेम किसी भी website का सबसे जरूरी हिस्सा होता है. आज इंटरनेट पर किसी भी website का पता लगाने के लिए उसके domain का पता होना बहुत जरूरी है. अगर simple भाषा में कहा जये तो Domain Name किसी भी website का एड्रेस होता है, जिससे उस वेबसाइट को इंटरनेट पर खोजा जाता है |

Ex.. ये बिलकुल इसी तरह होता है जैसे हमारा नाम. जब भी किसी को हमारी जरूरत होती वो हमे हमारे नाम से भुलाता है | सभी मनुष्यों का कोई न कोई नाम होता है , जिससे उसकी पहचान होती है | वैसे ही website का भी नाम होता है , जैसे अगर आप हमारी website देखना चाहते है तो आपको सर्च में हमारी website का domain name ( www.starblogging.com ) लिखना होगा.

 

Domain Name कैसे काम करता है  ?

अब आपको पता लग गया होगा कि domain name क्या होता है. लेकिन हम आपको बता दे कि internet किसी भी website का पता लगाने के लिए उसके डोमेन का use नहीं करता. जी हाँ  internet किसी भी website का पता उसके  IP Address से लगाता है |

इंटरनेट हर वेबसाइट को एक ip address provide करता है. ये IP ( Internet Protocol ) कुज  इस ( 192.168.22.1 ) परकार का होता है .

ip address kya hota haiअब आपके मन में ये सवाल आता होगा कि अगर किसी भी वेबसाइट का address उसका ip होता है तो फिर domain name का क्या काम है. तो इसका भी एक कारण है. मान लो अगर आपको किसी भी वेबसाइट को उसके IP ( Ex. 222.333.24.2 ) से याद रखना हो तो ये आपके लिए कितना मुश्किल होगा |

इसी बात को धियान में रखते हुए DNS ( Domain Naming System )  की खोज की गयी | Domain Naming System में server वेबसाइट के ip को उसके domain के साथ  जोड़ देता है | जब भी हम website का domain name सर्च करते है तो डोमेन अपने ip को Point करता है . जिससे server को उस वेबसाइट का पता चलता है |अब आपको पता चल गया होगा कि डोमेन नेम कैसे काम करता है |

 

Types of Domain Name 

तो अब बारी आती हैं domain name कितने प्रकार के होते है . वैसे तो domain कई प्रकार के होते है लेकिन आज मै उनके बारे में ही बात करुगा जोआपके लिए जानना बहुत जरूरी है. जब भी आप domain name ख़रीदे तो उस से पहले इनके टाइप्स और इनके क्या फैदे और नुकसान के बारे में पता होना आपके लिए जरूरी हैं . नहीं तो बाद में आपको पश्ताना भी पड़ सकता है. आज मैं इन टाइप के बारे में बात करुगा….

  1. TLD  ( Top Level Domain )
  2. SLD ( Second Level Domain )
  3. Subdomain ( Third Level Domain )

1. ( TLD ) Top Level Domain क्या है 

Top Level Domain Name क्या है : जब भी आप domain ख़रीदे तो सबसे पहले Top Level Domain के बारे में जरुर जान ले क्योकि ये सबसे ज्यादा जरूरी है और Google भी इसी को ही ज्यादा महत्त्व देता है | किसी भी domain के लेवल को Right to Left की ओर से समझा जाता है, मतलब कि डोमेन का right वाला पार्ट Top Level Domain होता है . जैसे हमारी वेबसाइट के domain ( www.starblogging.com ) में .com टॉप लेवल डोमेन है Search engine इसे ही ज्यादा महत्व देते है और इससे वेबसाइट की रैंकिंग भी बढती है. ये SEO Friendly होता है |

निचे इनके कुज ( TLD ) examples दिए गए है :-

  • .com ( commercial )
  • .net ( network )
  • .org ( organization )
  • .edu ( education )
  • info ( information )
  • gov ( government )

( CCTLD ) Country Code Top Level Domain

इन domain को भी Top Level Domain ही कहा जाता है लेकिन इनका use किसी country को show करने के लिए किया जाता है . For example : मान लो आपकी वेबसाइट India की है और आप users को बताना चाहते है कि आपकी website इंडिया की है तो आप  .in ( Indiaवाला domain खरीद सकते है | इस domain में 2 letter का country code होता है. निचे इनके कुछ उधारण दिए गए है :

  • .in ( India )
  • .cn ( China )
  • .ca ( Canada )
  • .uk ( United Kingdom )

2. ( SLD ) Second Level Domain

Second Level Domain Name क्या है  :  Top level domain के ( Right To Left ) आगे वाला पार्ट Second Level Domain होता  है . इस part में आप अपनी website का नाम use करते. जैसे हमारी website का domain है  www.starblogging.com  और इसमें starblogging second level domain है , जो हमारी website का नाम भी है | ये जरूरी नहीं है की यहाँ आप अपनी website का नाम ही डाले, यहाँ पर आप कुछ भी नेम use कर सकते है |

3. ( Subdomain ) Third Level Domain

किसी भी domain का लास्ट वाला पार्ट ( righ to left ) Subdomain यानि कि Third Level Domain कहलाता है. Ex. मान लो अगर मै अपनी website के लिए english में website बनाना चाहता हु , लेकिन मैं अपना main domain भी उसमे use करना चाहता हु तो इसके लिए मुझे एक subdomain बनाना होगा | जैसे मेरा डोमेन  starblogging.com है तो मेरा subdomain होगा english.starblogging.com | इसमें english. Third Level Domain है |

सबसे बड़ी बात है कि subdomain को हमे खरीदना नहीं पड़ता . ये आपके main Domain Name के साथ add कर सकते है. Subdomain को आप अपनी website के webhosting में free में create  कर सकते है . इसी लिए जब भी आप webhosting ख़रीदे तो ये जरुर check कर ले कि उस webhosting plain में आप कितने subdomain create कर सकते है |

Top Domain Name Provider List

अगर आप इंडिया में रहते  है और  domain name खरीदना चाहते है तो यहाँ बहुत सी ऐसी कंपनियां है जो domain name provide करती है | वैसे तो ये कंपनियां सभी देशो में domain provide करती है . लेकिन हम आपको उनकी ही लिस्ट देंगे जो इंडिया में बहुत मशहूर है |

Domain Name Providers :-

  • Godaddy
  • Bigrock
  • Namecheap
  • Hostgator
  • Bluehost
  • 1 and 1
  • Name .com
  • Dreamhost

आपको बता दे कि एक ICANN ( Interne Corporation Assigned Names and Numbers ) नाम की कंपनी है जो सभी domain को मैनेज करती है और साथ में दूसरी कंपनियो को domain name बेचने के लिए permission देती है |

मुझे पूरी उम्मीद है कि आपको  ( What is domain name in hindi ) Domain Name क्या है के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी | अगर आपको मेरा ये article बढ़िया लगे तो इसे शेयर करे | अगर आपके मन में Domain Name को लेकर कोई भी सवाल  है तो आप निचे कमेंट में पूछ सकते है | 

Domain Name क्या है और कैसे काम करता है ? पूरी जानकारी
5 Stars 100% 1 vote

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.